नमकीन बनाने का कार्य लाखों रुपये कमाई Namkeen making business in hindi



नमकीन एक ऐसा खाद्य पदार्थ है, जिसका लगभग हर घर में इस्तेमाल होता है। नमकीन को लोग उसके स्वाद के कारण ही पसंद करते है। नमकीन का उपयोग भोजन को और स्वादिस्ट बनाने के लिए किया जाता है। नमकीन का उपयोग शादी पार्टी में भी किया जाता है। 

नमकीन की डिमांड  किराना शॉप, होटलों, रेस्टोरेंट आदि जगह पर अधिक होती है। किराना व्यापारी नमकीन को बेचता है। नमकीन को हम डाइरेक्ट नमकीन की दूकान लगाकर भी बेच सकते है। दुकान पर ही नमकीन बनाकर तैयार बेचना। ताजे नमकीन की डिमांड बहुत होती है। नमकीन को हम बाहर भी भेज सकते है। 

यदि हमें नमकीन को हमें अन्य व्यापारियों को बेचना है, तो पैकिंग का ध्यान रखना होगा। पैक का साइज पचास ग्राम से दो किलो तक रख सकते है। 

यदि हमारे नमकीन में अच्छा टेस्ट है, तो इस व्यवसाय में हम बहुत जल्दी कदम जमा सकते है। लोग आपके यहाँ के नमकीन को नाम से खरीदेंगे। बस आपको स्वाद और शुद्धता का ध्यान रखें होगा। 

नमकीन का कार्य कैसे शुरू करे :-

शुरू में तो हम इस काम को घर से ही शुरू कर सकते है, क्योंकि इसकी डिमांड लगभग हर घर में होती है। हम घर से ही नमकीन बनाकर किराना दुकान एवं होटलो आदि में सप्लाई कर सकते है। किन्तु यदि आप आपकी डायरेक्ट सेल को बढ़ाना चाहते है, तो आपको आपकी दूकान थोड़ी चलती हुई रोड पर लेना ठीक रहेगा। जहां पर लोग आते जाते रहते हो। क्योंकि दिखेगा तो ही बिकेगा। 

कच्चा माल खरीदना :- 

नमकीन बनाने के लिए जो भी सामान लगता है, वह आसपास के बाजार में बहुत आसानी से उपलब्ध हो जाता है। जैसे बेसन, मैदा, मसाले, तेल आदि। इसलिए इन चीजों को ज्यादा स्टोर करने की आवश्यक्ता भी नहीं पड़ती है। केवल जरुरत के हिसाब ही खरीद सकते है। 

 नमकीन बनाना :-

दूकान का आकर लगभग दो सौ से तीन सौ स्के फीट हो तो अच्छा है। क्योंकि हमें स्टोर करके रखने की भी जरुरत पड़ती है। नमकीन बनाने के लिए शुरू में हमे कुशल कारीगर की आवश्यक्ता पड़ेगी, जब तक हम खुद ही इस कार्य में कुशल नहीं हो जाते है। 

इस काम में केवल नमकीन को तलने के लिए मशीन की आवश्यकता होती है। जैसे सेव बनाने की मशीन एवं तलने के लिए कड़ाई, गैस आदि। नमकीन में टेस्ट बढ़ाने के लिए हम कई तरह के मसालों को मिलाते है। 

जैसे-जैसे काम बढ़ते जाएगा हमें कुछ मशीनो जैसे आलू छिलने, चिप्स बनाने आदि की मशीनो की आवश्यकता होगी। 

नमकीन कई प्रकार का होता है जैसे:-
  • सेव लगभग बीस से पच्चीस प्रकार के 
  • मिक्चर भी लगभग पंद्रह से बीस प्रकार के 
  • चिप्स, फरियाली मिक्चर
  • शक्करपारे, चकली, पेठे आदि और भी बहुत कुछ 
हमेशा एक जैसा स्वाद :-

हमारे नमकीन में हमेशा एक जैसा स्वाद होना चाहिए। यदि हमारे नमकीन का स्वाद जरा सा भी चेंज होगा तो हमारे ग्राहक हमसे दूर होते चले जाएंगे। इसलिए मसालों को हमेशा तोलकर ही डाले। एक पर्सनल लिस्ट तैयार कर लेवे उसके अनुसार ही मसाले तोलकर या नापकर डालेंगे तो आपके नमकीन का स्वाद हमेशा एक समान बना रहेगा। 

नमकीन बनाने की प्रोसेस भी हमेशा एक समान रहना चाहिए। जैसे कितनी देर तक तक बेसन या मैदा गूँथ कर रखना, कितनी देर तक तलना, कितने तापमान पर तलना, कितनी देर बाद पैक करना आदि कई बातो का ध्यान रखना होगा। तभी आपके नमकीन की गुणवत्ता एवं स्वाद हमेशा एक सामान बना रहेगा। 

स्टॉक:- 

हमें ज्यादा स्टॉक करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है, जितना माल बिकते जाए उतना ही बनाते जाए। जिससे हम ताजा नमकीन बेच सकते है। और यदि हम ताजा नमकीन बेचते है, तो उसके स्वाद की बात ही कुछ अलग है। क्योंकि यदि अधिक आवश्यक्ता पड़ती है, तो भी हम तुरंत नमकीन बना सकते है। 

किन्तु यदि हम बड़ा कार्य करते है, तो हमें कुछ दिनों का नमकीन पैक करके रखना होता है। क्योंकि पैकिंग आदि के कार्य में समय अधिक लगता है। 

कितने रुपये में शुरू हो जायेगा :-

इस कार्य को लगभग पच्चीस से तीस हजार रुपये में घर से आसानी से शुरू कर सकते है। बहुत जल्दी इस काम में पैसो का रोटेशन शुरू हो जाएगा।  इस कार्य के लिए भी लोन सुविधा उपलब्ध है। 



बड़े स्तर पर नमकीन बनाने का कारखाना (देखे)


दोस्तों में तरुण जूनवाल आशा करता हूँ, की आपको मेरा ये आइडिया पसंद आया होगा। यदि ये Business idea in hindi में आपको पसंद नहीं आया तो कोई बात नहीं हम बहुत जल्दी ही हम एक और नया Business idea प्रस्तुत करेंगे। हो सकता है, हमारा अगला बिज़नेस आइडिया आपको पसंद आ जाए। 

इस वेबसाइट googleguru.in पर हर हफ्ते दो नए बिज़नेस के बारे में जानकारी मिलेगी। आप हमे ईमेल सब्सक्राइब भी कर सकते है, ताकि हम जब कोई भी नये बिज़नेस के बारे में जानकारी डाले तो वो आपके मेल पर पहुँच जाए।

दोस्तों यदि ये बिज़नेस आइडिया आपको अच्छा लगे तो, इसे नीचे दिए गए व्हाट्सप बटन पर क्लिक करके आप अपने परिचितों को भेज सकते है। 


धन्यवाद जय हिन्द। 

Post a Comment

0 Comments