कच्ची घाणी तेल का बिज़नेस लाखों रुपये कमाएं kacchi ghani business in hindi


ऐसे बीज जिनसे तेल निकलता है, उनको तिलहन कहते है। हमारे दादाजी के समय में तिलहनों से तेल कच्ची घाणी से ही निकाला जाता था, किन्तु अब इसकी जगह मशीनों ने ले ली है। इसमें कई प्रोसेस द्वारा तेल निकाला जाता है। जैसे डबल फ़िल्टर, ट्रिपल फ़िल्टर आदि।

किन्तु इन फिल्टरों के चक्करों में तेल में से कई तत्त्व खत्म हो जाते है, केवल फैट और कोलोस्ट्राल बचा रहता है। जो की हमारे शरीर के लिए बहुत ठीक नहीं है। 

कच्ची घाणी में लकड़ी की चक्की के पाट होते है, जिसमे तिलहनों को डालकर उनका तेल निकला जाता है। आपने कोल्हू का बैल कहावत सुनी होगी, वो बैल ही कच्ची घाणी चलता था। कच्ची घाणी में कई तिलहनो जैसे सरसो, मूंगफली, राई, नारियल एवं तिल आदि का तेल निकाला जाता है। 

कच्ची घाणी से निकले हुए तेल में तिलहनों की खुशबु एवं चिकनाई बरकरार रहती है, क्योंकि इसमें तिलहनों को अधिक तापमान पर गर्म नहीं किया जाता है, जिससे इसमें निकले हुए तेल में सभी पोषक तत्व उपस्थित  रहते है। 

आजकल तो डॉक्टर भी कच्ची घाणी के तेल को इस्तेमाल करने की सलाह देने लगे है। विदेशो में भी कच्ची घाणी के तेल की काफी डिमांड है। 

लोग कच्ची घाणी का बिज़नेस करके काफी लाभ कमा रहे है। बस कोल्हू के बैल की जगह अब मशीनो ने ले ली है। 

इस बिज़नेस की शुरुआत करके आप काफी लाभ कमा सकते है। इस बिज़नेस पर सब्सिटी वाला लोन भी आसानी से मिल जाता है। 




दोस्तों में आशा करता हूँ, की आपको मेरा ये आइडिया पसंद आया होगा। यदि ये Business idea hindi में आपको  पसंद नहीं आया तो कोई बात नहीं हम बहुत जल्दी ही हम एक और नया बिज़नेस आयडिया प्रस्तुत करेंगे। हो सकता है, हमारा अगला बिज़नेस आइडिया आपको पसंद आ जाए। 

इस वेबसाइट www.googleguru.in  पर हर हफ्ते दो नए बिज़नेस के बारे में जानकारी मिलेगी। आप हमे ईमेल सब्सक्राइब भी कर सकते है, ताकि हम जब कोई भी नये बिज़नेस के बारे में जानकारी डाले तो वो आपके मेल पर पहुँच जाए।

दोस्तों यदि ये बिज़नेस आइडिया आपको अच्छा लगे तो, इसे नीचे दिए गए व्हाट्सप बटन पर क्लिक करके आप अपने परिचितों को भेज सकते है।
धन्यवाद जय हिन्द। 

Post a Comment

2 Comments

  1. Dear Sir, could you pl share more about this business detail such as required investment, men power, business process, customer market etc

    ReplyDelete