एथलीट किसे कहते है


एथलीट ऐसा खिलाड़ी होता है, जिसे शारीरिक शक्ति, गति, एवं धैर्य से युक्त खेल या अभ्यास में प्रतिस्पर्धा करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। जिसमे शारीरिक गतिविधियों के लिए प्राकृतिक क्षमता होती है। 

एथलीट पुरुष या महिला अपनी शारीरिक क्षमता के अनुसार एक या अधिक खेलों में भाग ले सकते है। शारीरिक क्षमता वाले खेल जैसे दौड़, भाला फेंक, गोला फेंक, डिस्कस थ्रो, हैमर थ्रो, लॉन्ग जम्प, ऊँची कूद, पोल वाल्ट आदि। 
एथलीट के कर्तव्य
  • एथलीट अपने कौशल व क्षमता को विकसित करने के लिए नियमित अभ्यास करता है, और समय-समय पर प्रशिक्षण सत्रों में भाग लेता है
  • प्रशिक्षकों, खेल प्रशिक्षकों, या एथलेटिक प्रशिक्षकों के निर्देशन में अभ्यास करता है। 
  • प्रशिक्षण और विशेष आहार द्वारा अच्छी शारीरिक क्षमता बनाये रखता है। 
  • खेल कौशल और रणनीति के बारे में कोच और अन्य खेल कर्मचारियों से निर्देश लेता है
  • खेल के नियमों का पालन करता है। 
  • समय-समय पर अपनी ताकत और कमजोरियों का आकलन करता है। 
  • एक एथलीट अपनी क्षमता एवं कौशल को परखने के लिए अधिक से अधिक प्रतिस्पर्धाओ में लेता है।
  • एथलीट मजबूत मांसपेशियाँ और सहनशक्ति हासिल करने और चोट से बचने के लिए स्ट्रेंथ प्रशिक्षकों के निर्देशन में नियमित रूप से व्यायाम करते हैं।
  • एथलीट में अपने शरीरिक क्षमता की चरम सीमा तक अभ्यास करते है। तब जाकर उन्हें सफलता मिलती है।
  • जो एथलीट बनने का सपना देखते हैं, वे सभी बाधाओं को हरा देते हैं। 
जानिए एक एथलेटिक ट्रेनर के बारे में


Post a Comment

2 Comments